Mon, Oct 25, 2021
Updated 4:16 pm IST
Updated 4:16 pm IST

24 घंटों में 15 हजार 823 नए मामले सामने आए, 226 लोगों की हुई मौत

Published on : Oct 13, 2021, 09:58 AM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • 24 घंटों में भारत में कोरोना के 15,823 नए मामले सामने आए
  • एक्टिव मामलों की संख्या 2,07,653 है
  • 24 घंटों में 226 लोगों की मौत हुई है

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में भारत में कोरोना के 15,823 नए मामले सामने आए. जिसके बाद कुल मामले 3,40,01,743 हो गए हैं, एक्टिव मामलों की संख्या 2,07,653. वहीं बीते दिन 22,844 लोग ठीक हुए कुल जिसके बाद कोरोना से ठीक होने वालों का कुल आंकड़ा 3,33,42,901 दर्ज किया गया। वहीं 226 लोगों की मौत हुई है,  जिसके बाद मरने वालों की कुल संख्या 4,51,189 हो गई है। 

12 अक्टूबर 2021 यानी कल तक कोविड-19 के लिए कुल 58,63,63,442 नमूनों का परीक्षण किया गया। इनमें से कल 13,25,399 नमूनों का परीक्षण किया गया। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने इसकी जानकारी दी।  वहीं  एक दिन में 50,63,845 वैक्सीन की डोज दी गई, जिसके साथ देश में कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 96 करोड़ के पार जा चुका है।  

गौरतलब हो कि कोरोना के मामलों में लगातार कमी आ रही है। कल यानी मंगलवार को कोरोना के महज 14,313 नए केस ही मिले हैं।  यह आंकड़ा बीते 224 दिनों में सबसे कम था और इससे पता चलता है कि कोरोना से मिली यह राहत कितनी बड़ी है।  इसके साथ ही कल कोरोना से रिकवरी रेट भी 98.04 फीसदी दर्ज किया गया जो मार्च 2020 से अब तक का सबसे ऊंचा स्तर है।  यही नहीं एक्टिव केसों की संख्या में भी बड़ी कमी देखी गई।  एक तरफ नए केस महज 14 हजार के पार हैं तो 26,579 लोग इसी दौरान रिकवर हुए हैं। इसके चलते एक्टिव केसों की संख्या तेजी से कम होते हुए महज 2,14,900 ही रह गई है. एक्टिव केसों का यह आंकड़ा पिछले 212 दिनों में सबसे कम था।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार