Mon, Oct 25, 2021
Updated 4:16 pm IST
Updated 4:16 pm IST

नवरात्रि के अष्टमी तिथि को होती महागौरी की उपासना

Published on : Oct 24, 2020, 14:18 PM
By : Sidharth kumar
news

HIGHLIGHTS

  • दशहरा के आठवें दिन पूजी जाती हैं महागौरी
  • मां पूरी करती हैं भक्तों की हर मनोकामना

माँ दुर्गा के आठवें रूप का नाम महागौरी है. दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की अराधना की जाती है. इनकी उपासना से भक्तों के सभी पाप धुल जाते हैं. माँ महागौरी का ध्यान, स्मरण, पूजन बहुत ही कल्याणकारी है. 

इनका रंग पूर्णतः गौर है. इस गौरता की तुलना शंख, चंद्र और कुंद के फूल से की गई है. इनके समस्त वस्त्र और आभूषण भी श्वेत हैं. महागौरी की चार भुजाएँ हैं. माता का वाहन वृषभ और सिंह है. इनके ऊपर के दाहिने हाथ में अभय मुद्रा और नीचे वाले दाहिने हाथ में त्रिशूल है. ऊपरवाले बाएँ हाथ में डमरू और नीचे के बाएँ हाथ में वर-मुद्रा हैं. इनकी मुद्रा अत्यंत शांत है. 

पौराणिक मान्यतां के अनुसार भगवान शिव को पति के रुप में पाने के लिए महागौरी ने कई वर्षों तक कठोर तपस्या की थी. जिसके बाद प्रसन्न होकर भगवान शिव ने मां महागौरी को स्वीकार किया था. कठोर तपस्या के कारण शरीर पर धूल मिट्टी की परतें जमने से माता का रंग काला हो गया. तब भगवान शिव ने उन्हें गंगाजल से नहलाया इससे उनका रंग स्वर्ण सा हो गया और ये महागौरी कहलाई.

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

अर्थात: हे माँ! सर्वत्र विराजमान और माँ गौरी के रूप में प्रसिद्ध अम्बे, आपको मेरा बार-बार प्रणाम है. हे माँ, मुझे सुख-समृद्धि प्रदान करो

 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार